हथेली में शनि पर्वत की स्थिति से जानिए कैसा रहने वाला है आपका जीवन


शनि देवता न्याय के देवता माने गए हैं। वो तीनों लोकों के स्वामी हैं और मनुष्यों को उसके कर्म अनुसार फल देते हैं। सामान्य परिस्थित में अगर किसी जातक पर शनि की दृष्टि पड़ गयी तो उसका अनिष्ट होना निश्चित है। यही वजह है कि हस्त रेखा शास्त्र में भी शनि के स्थान का विशेष महत्व है। हाथ में शनि का पर्वत किसी भी जातक के भविष्य के बारे में बहुत कुछ बता सकता है। आपको बता दें कि आपकी हथेली में मध्यमा उंगली के नीचे का स्थान शनि का पर्वत होता है। ऐसे में आज इस लेख के माध्यम से हम आपको आपकी हथेली में शनि के पर्वत की स्थिति के अनुसार उसके शुभ या अशुभ फल के मिलने की संभावना के बारे में बताएँगे।

पहली स्थिति

अगर आपकी हथेली में शनि का पर्वत यानी कि मध्यमा उंगली के नीचे का हिस्सा पूर्ण से विकसित है तो इसका मतलब है कि आप पर शनिदेव की विशेष कृपा है। ऐसे जातक बेहद भाग्यशाली माने जाते हैं। ऐसे जातक अपनी मेहनत और बुद्धि के बल पर अपने लक्ष्य को हासिल करते हैं।

हालांकि ऐसे जातकों के साथ अक्सर दो समस्याएं भी देखी जाती हैं। पहली ये कि ऐसे जातक अपने लक्ष्य को हासिल करने में इतना रम जाते हैं कि ना उन्हें परिवार की चिंता रहती है और ना ही मित्रों व संबंधियों का ध्यान। यही वजह है कि इन जातकों का अपने सगे-संबंधियों व मित्रों से मनमुटाव बना रहता है। वहीं दूसरी समस्या जो ऐसे जातकों में देखी जाती है, वो है चिड़चिड़ाहट की समस्या। ऐसे जातक छोटी-छोटी बातों पर बहुत जल्द ही झल्ला जाते हैं।

दूसरी स्थिति

अगर किसी जातक के शनि पर्वत पर नक्षत्र के निशान हैं तो उस जातक को शनिदेव की शांति के उपाय करने चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि ऐसे जातकों को जीवन भर शनिदेव किसी न किसी तरह की परेशानी में डालते रहते हैं। अगर आपकी हथेली में ऐसा कोई निशान है तो आप शनिवार के दिन किए जाने वाले उपायों को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं।

तीसरी स्थिति

अगर किसी जातक की मध्यमा उंगली सामान्य आकार से ज्यादा लंबी हो तो ऐसा जातक मित्र बनाने योग्य है। ऐसे जातक स्वभाव से बेहद शांतिप्रिय होते हैं। ईमानदारी इनका सर्वश्रेष्ठ गुण होता है और इनकी प्रवृत्ति बेहद धार्मिक होती है। ऐसे जातक अपने परिवार और संबंधियों के बीच बेहद मान-सम्मान पाते हैं।

चौथी स्थिति

अगर किसी जातक के शनि पर्वत पर कटे का निशान या फिर उस स्थान पर द्वीप बना हो तो उस जातक को वाहन चलाते वक़्त बेहद सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि उनके किसी दुर्घटना से भेंट होने की प्रबल संभावना होती है। ऐसे जातक शनिवार के दिन काले रंग के वस्त्र जरूर धारण करें।

पांचवी स्थिति

अगर किसी जातक की हथेली में शनि पर्वत वाले स्थान पर ज्यादा कटे का निशान हो तो ऐसा जातक हमेशा परेशानियों से घिरा ही रहता है। ऐसे जातकों को जरूरत है कि वे शनि देवता को शांत करने के उपायों को अपनाएं वरना आप किसी न किसी समस्या से जूझते ही रहेंगे।

छठी स्थिति

छठी स्थिति वह है जब किसी जातक की हथेली में शनि के साथ-साथ गुरु और सूर्य का पर्वत भी पूर्ण रूप से विकसित हो तब वैसा जातक अपने जीवन में काफी नाम और सम्मान अर्जित करता है। साथ ही अपनी बुद्धि का इस्तेमाल करते हुए अपनी आर्थिक स्थिति को भी बेहतर बनाता है। यह स्थिति बेहद ही शुभ मानी गयी है।

1 view0 comments