सुबह से शाम तक क्या है नवरात्रि कलश स्थापना के सबसे अच्छे मुहूर्त


मां की आराधना यदि शुभ मुहूर्त में घट अर्थात् कलश स्थापना करके की जाए तो अत्यंत फलदायी होती हैं। इस वर्ष शारदीय नवरात्रि महोत्सव 7/10/2021 से प्रारंभ हो रहा है। आइए जानें किस मुहूर्त में घटस्थापना करें।

शारदीय नवरात्रि महोत्सव 2021

चौघड़िया अनुसार शुभ मुहूर्त

शुभ चौघड़िया- सुबह 06.22 से 07.50 तक।


लाभ चौघड़िया- दोपहर 12.15 से 01.43 तक। अमृत चौघड़िया- 01.43 से 03.11 तक।



शुभ चौघड़िया- शाम 04.39 से 06.07 तक। घट स्थापना का समय या मुहूर्त 06:16:56 से 10:11:33 तक रहेगा।


नवरात्रि का पारण 15 अक्टूबर को समय 06:21:33 के बाद होगा।

5. नवरात्रि के पर्व में इस बार माताजी डोली पर सवार होकर आएंगी।


कहते हैं कि नवरात्रि की शुरुआत यदि सोमवार या रविवार को हो तो इसका अर्थ है कि माता हाथी पर सवार होकर आएंगी। शनिवार और मंगलवार को माता अश्व यानी घोड़े पर सवार होकर आती हैं। गुरुवार या शुक्रवार को नवरात्रि का पर्व प्रारंभ हो तो माता डोली पर सवार होकर आती है।


शाम का अमृत चौघड़िया- 06.07 से 07.39 तक। लग्न अनुसार मुहूर्त-


कन्या लग्न- प्रात: 04.52 से 07.03 तक। धनु लग्न- सुबह 11.34 से दोपहर 01.39 तक।

कुंभ लग्न- 03.26 से शाम 05.00 तक। मेष लग्न- शाम 06.30 से रात्रि 08.02 तक।


वृषभ लग्न- 08.02 से 10.08 तक। अभिजीत मुहूर्त- सुबह 11:46 से 12:32 तक।


प्रात: - सुबह 06:17 से 10:11 तक प्रात: - सुबह 9:33 से 11:31 बजे तक


दोपहर - अभिजीत मुहूर्त : 11:46 से 12:32 तक दोपहर - 3:33 से शाम 5:05 बजे तक


प्रतिपदा तिथि प्रारंभ: 6 अक्टूबर शाम 4 बजकर 35 मिनट से प्रतिपदा तिथि समाप्त: 7 अक्टूबर दोपहर 1 बजकर 46 मिनट तक

पारणा मुहूर्त : 15 अक्टूबर को शाम 06:22 मिनट के बाद


2 views0 comments