ये 5 राशियों वाले लोग होते हैं सबसे खतरनाक, इनसे बचकर रहें


भारतीय ज्योतिष के अनुसार 12 राशियां होती हैं। प्रत्येक राशि का अपना एक ग्रह है। जैसे मेष और वृश्‍चिक का मंगल, वृषभ और तुला का शुक्र, कर्क का चंद्र, मिथुन और कन्या का बुध, कुंभ और मकर का शनि, सिंह का सूर्य, धनु और मीन का बृहस्पति। प्रचलित मान्यता के अनुसार आओ जानते हैं कि कौनसी 5 राशियां सबसे खतरनाक मानी गई है। हालांकि इनसे किसी को कोई खतरा नहीं है, परंतु ये लोग कई बार खुद के लिए ही खतरा बन जाते हैं।

1. मेष ( Aries ) : इस राशि का स्वामी ग्रह मंगल है। यह अग्नि तत्व राशि है। यदि मंगलबद अर्थात खराब है या पत्रिका मांगलिक है तो ऐसे व्यक्ति क्रोधी तो होते ही हैं, परंतु यह बहुत तेज दिमाग के भी होते हैं। यह जीवन में हर तरह की रिस्क उठाना जानते हैं। यह दोस्तों के दोस्त और दुश्मनों के दुश्मन हैं। यह किसी भी हद तक जा सकते हैं। ये किसी को धोखा नहीं दे सकते परंतु धोखा खाने के बाद इनसे कोई बच नहीं सकता। यह खुद के साथ हुए बुरे को कभी भुलते नहीं हैं। लड़ने पर आए तो इनसे बुरा कोई नहीं और देने पर आए तो इनसे महादानी कोई नहीं। यह बहुत ही महत्वकांशी होते हैं। मंगल अच्छा है तो यह राजनीति, सेना या पुलीस के उच्चपद पर होते हैं।


2. सिंह ( Leo ) : इस राशि का स्वामी सूर्य है। यह अग्नि तत्व राशि है। बहुत जल्दी क्रोध करना और अपने मन की ही करना इनका स्वभाव है। परंतु ये उतने ही समझदार भी होते हैं। ये सच्चे और ईमानदार होने के साथ ही खुद के बनाए गए उसूलों पर चलने वाले होते हैं। ये हमारे आमने सामने की लड़ाई में विश्वास करते हैं। इनके पंजे में आया दुश्मन छूट नहीं सकता। सूर्य अच्छा है तो यह शासन प्रशासन के उच्चपद पर होते हैं।

3. वृश्चिक ( Scorpio ) : इस राशि का स्वामी ग्रह मंगल है। यह राशि जल तत्व प्रधान हैं। यह भी मेष राशि की तरह कभी नहीं भुलते हैं कि सामने वाले ने मेरे साथ क्या किया था। यह बदला लेने में माहीर हैं। दुश्मन को पता भी नहीं चलने देते हैं कि कब उनके गिरफ्त में आ गया हैं। कहते हैं कि बिच्छू का काटा पानी नहीं मांग पाता है उसके पहले ही मर जाता है। लेकिन एक बाद है ‍कि ये दिल के सच्चे और रचनात्मक होते हैं। इनके दिमाग को कोई नहीं पकड़ सकता। यह दोस्तों का हमेशा साथ निभाने वाले होते हैं। मंगल अच्छा है तो यह उच्च किस्म के कलाकार, साहित्यकार, नेता, शासक और अधिकारी होते हैं।

4. कुंभ ( Aquarius ) : इस राशि का स्वामी ग्रह शनि है। यह राशि वायु तत्व प्रधान है। इन्हें अपने विचारों पर स्थिर रहने में कठिनाई होती है। यह बहुत ही महत्वकांशी और छुपे रुस्तम होते हैं। हालांकि इनमें न्यायप्रियता रहती है। ये किसी के साथ बुरा नहीं करते हैं परंतु बुरा करने वाले को छोड़ते नहीं है। एक बार इनकी नजरों से जो गिर गया समझो फिर उसे ये कभी भी लाइक नहीं करते हैं। इसका व्यक्तित्व रहस्यमयी होता है। दिखने में शांत लेकिन अंदर आग लगी हुई होती है। इनके दिमाग की खुरापात सिर्फ यही समझ सकते हैं। यह खुद के भावों को छुपाने में माहिर होते हैं। शनि अच्छा है तो ये अच्छे नेतृत्वकर्ता, राजनेता, सैन्य अधिकारी, प्रोफेसर और शोधकर्ता होते हैं।



5. मकर ( Capricorn ) : पृथ्वी तत्व प्रधान मकर राशि का स्वामी शनि है। कहते हैं कि मकर राशि के लोग गुस्से में अपना आपा खो देते हैं। हालांकि ये लोग बहुत ही जिम्मेदार और नेतृत्व क्षमता वाले होते हैं। जब कोई काम इनके अनुसार नहीं होता है तो क्यों नहीं हुआ उस पर सोचने के बजाया गुस्सा करने लगते हैं। ये लोग मेहनती और समझदार होते हैं। शनि अच्छा हो तो ये राजनेता, उच्च व्यापारी, अधिकारी, प्रबंधक और विचारक होते हैं।

5 views0 comments