महालक्ष्मी व्रत के 9 खास मंत्र करेंगे आपकी हर कामना पूर्ण


13 सितंबर 2021 से भाद्रपद मास में आने वाला 16 दिनों का महालक्ष्मी व्रत शुरू हो गया है। इन खास दिनों में धन-वैभव देने वाली देवी माता महालक्ष्मी की विधि-विधिपूर्वक पूजन किया जाएगा तथा अच्छी सेहत एवं सुखी जीवन की कामना से यह व्रत रखा जाएगा। अत: महालक्ष्मी जी के इन मंत्रों का जाप करना अतिलाभदायी रहेगा।

16 दिवसीय महालक्ष्मी व्रत की समाप्ति मंगलवार, 28 सितंबर 2021 को होगी। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं देवी मां महालक्ष्मी के 9 विशेष मंत्र-

आइए यहां पढ़ें खास मंत्र-

(1) धन मंत्र : 'ॐ आद्य लक्ष्म्यै नम:'।

(2) यश लक्ष्मी मंत्र : 'ॐ विद्या लक्ष्म्यै नम:'। (3) आयुलक्ष्मी मंत्र : 'ॐ सौभाग्य लक्ष्म्यै नम:'।



(4) वाहन लक्ष्मी मंत्र : 'ॐ वाहन लक्ष्म्यै नम:'। (5)‍ स्थिर लक्ष्मी मंत्र : 'ॐ स्थिर लक्ष्म्यै नम:'/ 'ॐ अन्न लक्ष्म्यै नम:'।


(6) सत्य लक्ष्मी मंत्र : 'ॐ सत्य लक्ष्म्यै नम:' (7) संतान लक्ष्मी मंत्र : 'ॐ भोग लक्ष्म्यै नम:'।



(8) गृह लक्ष्मी मंत्र : 'ॐ योग लक्ष्म्यै नम:' का जप करें। 9) खास मंत्र- 'ॐ नमो भाग्य लक्ष्म्यै च विद्महे अष्ट लक्ष्म्यै च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोद्यात'।


माता लक्ष्मी के पूजन-अर्चन करते समय इन मंत्रों को जपने से मनुष्य की हर मनोकामना पूर्ण होती हैं।

8 views0 comments