महाकाल मंदिर दो माह बाद नए लुक में आएगा नजर


भोपाल. महाकाल मंदिर शीघ्र ही आकर्षक लुक में नजर आएगा, सरकार ने महाकाल रुद्रसागर, इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट एप्रोच (मृदा) के पहले चरण के काम को पूरा करने उज्जैन स्मार्ट सिटी को दो माह का समय दिया है । मृदा के सभी प्रोजेक्टों का काम अभी 40त्न अधूरा है। मृदा के प्रथम चरण में महाकाल मंदिर परिसर में अलग अलग 10 कार्य होने हैं।

हालांकि यह काम दिसंबर में पूरा होना था, पर कोरोना के चलते अभी भी अधूरा है। मृदा के दूसरे चरण के कार्यों को पूरा करने के लिए सरकार ने 2023 तक लक्ष्य रखा है। इसमें महाराजवाड़ा रुद्रसागर के जीर्णोद्धार सहित करीब 8 कार्यों को किया जाना है। दोनों चरणों के काम होने के बाद महाकाल मंदिर परिसर और उसके आसपास की पूरी तस्वीर बदल जाएगी। बताया जाता है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान महाशिवरात्रि में महाकाल मंदिर जाएंगे। वे मृदा के पहले चरण की सभी परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे । मृदा के दूसरे चरण में होने वाले कार्यों की समीक्षा भी करेंगे ।

इन कामों को जल्द पूरा करने पर जोर


-श्री महाकालेश्वर वाटिका


-श्री महाकलेश्वर मार्ग


-अर्थ-पथ क्षेत्र


-शिव अवतार वाटिका


-दुकानें व कुला क्षेत्र


-पार्किंग, धार्मशाला, प्रवचन हॉल एवं अन्नक्षेत्र

उच्च शिक्षा मंत्री ने इंजीनियरों एवं आर्किटेक्ट से की चर्चा उज्जैन. शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने रविवार को स्थानीय होटल में इंजीनियर और आर्किटेक्ट के साथ शहर के विकास को लेकर इंजीनियर और आर्किटेक्ट के साथ चर्चा की। उन्होंने कहा कि उज्जैन में जल्द ही 2 नेशनल हाईवे आने वाले हैं। राजमार्ग नहीं होने की वजह से उज्जैन के विकास की गति रुकी हुई थी लेकिन अब धीरे-धीरे उज्जैन में विकास के रास्ते खोल रहे हैं उज्जैन में एयरपोर्ट बनेगा, राष्ट्रीय स्तर के सभी फ्लाइट यहां आएंगे। उज्जैन के विकास का मास्टर प्लान 2035 तक का बना हुआ है। उज्जैन-फतेहाबाद रेलवे ट्रेक खंडवा से जुड़ेगा। इससे दक्षिण भारत की ट्रेनें उज्जैन तक आ सकेगी।5

1 view0 comments