Search
  • Acharya Bhawana Sharma

बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू, जानिए कब आएगी तारीख और क्या है तैयारी



बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. डिमरी पुजारी गाडू घडा लेने के लिए जोशीमठ पाण्डूकेशर के लिए प्रस्थान कर चुके हैं. श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि वसंत पंचमी को तय करने की परम्परा है जिसके तहत रविवार को डिमरी पुजारी गाडू घडा को लेने के लिए जोशीमठ पाण्डूकेशर के लिए प्रस्थान किए. बता दें कि श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि गाडू घडे की उपस्थिति में टिहरी नरेश के राज दरबार नरेन्द्र नगर में राज पुरोहितो द्वारा पंचांग देखकर तय की जाती है.


बसंत पंचमी पर घोषित होगी तारीख जोशीमठ नर्सिंग मंदिर से गाडू घडे की प्राप्ति कर पाण्डूकेशर रात्रि बिश्राम कर 31 जनवरी को पाण्डूकेशर के योग ध्यानी मंदिर में पूजा करने के बाद डिम्मर गांव के लक्ष्मीनारायण मंदिर में पूजा अर्चना कर रात्रि विश्राम करेगे. लक्ष्मी नारायण मंदिर में तीन दिनों तक ठहरने के बाद 4 फरवरी को डिम्मर से प्रस्थान कर ॠषिकेश होते हुए नरेंद्र नगर टिहरी नरेश के राज दरबार में पहुचेंगे जहां गाडू घडे की उपस्थिति में वसंत पंचमी के पर्व पर बद्रीनाथ के कपाट खुलने की तिथि घोषित होगी. तारीख तय करने के लिए सुबह से ही पूजा शुरू हो जाएगी. कोरोना वायरस की वजह से इस बार कार्यक्रम का आयोजन संक्षिप्त होगा.


3 views0 comments

Recent Posts

See All

महाबली हनुमान जी को संकट मोचन भी कहा जाता है। हनुमान जी अपने भक्तों पर आने वाले सभी तरह की परेशानियां और भय दूर करते हैं। कहा जाता है कि हनुमान जी से बढ़कर कोई देवी-देवताएं नहीं है ये आज के समय में भी