पिंगला गीता क्या है जानिए 3 रहस्य


महाभारत में श्रीमद्भागवत गीता के अलावा अनु गीता, हंस गीता, पराशर गीता, बोध्य गीता, विचरव्नु गीता, हारीत गीता, काम गीता, पिंगला गीता, वृत्र गीता, शंपाक गीता, उद्धव गीता, मंकि गीता, व्याध गीता जैसी अनेक गीताएं हैं। इसके अलावा गुरु गीता, अष्ट्रवक गीता, गणेश गीता, अवधूत गीता, गर्भ गीता, परमहंस गीता, कर्म गीता, कपिल गीता, भिक्षु गीता, शंकर गीता, यम गीता, ऐल गीता, गोपीगीता, शिव गीता और प्रणव गीता आदि गीताएं हैं। आओ जानते है पिंगला गीता के बारे में संक्षिप्त जानकारी।

1. पिंगला गीता पिंगला नाम की एक नाचने वाली लड़की को मिले ज्ञान और प्रबुद्धता का संदेश देती है। यह एक प्रसिद्ध गणिका थी।

2. पिंगला गीता का वर्णन महाभारत के शांति पर्व में मिलता है। यह गीता पितामह ‍भीष्म और युद्धि के बीच हुआ संवाद है।

3. इस गीता में धन संपत्ति के नष्ट होने अथवा किसी प्रियजन की मृत्यु होने पर उत्पन्न शोक के निवारण एक प्राचीन आख्‍यान के माध्यम से बताया गया है।


2 views0 comments