Search
  • Acharya Bhawana Sharma

नवंबर माह में कैसा होगा मौसम, व्यापार-व्यवसाय, देश-विदेश, मंदी-तेजी जानिए सबका हाल, ज्योतिष के साथ


नवंबर (November Month) के प्रथम सप्ताह पूर्व के देशों में खुशहाली रहेगी। पश्चिम-उत्तर के देशों में आंतरिक सुरक्षा पर सवाल खड़े हो सकते हैं। दक्षिण के देशों में अशांति का माहौल बनेगा। पृथ्वी पर अधिकतर प्रजा अपने को सुरक्षित महसूस नहीं कर पाएगी। कोई न कोई आंतरिक डर बना रहेगा। माह के अंत में थोड़ा सही होगा।

महंगाई भी चरम सीमा पर बढ़ेगी, आम जनता परेशान रहेगी। विशेषकर सोना, हीरा, पीतल, तांबा साथ ही रोज की आवश्यक दालों के भावों में तेजी रहेगी। चांदी, चावल व मसूर के भाव में मंदी रहेगी लेकिन मूंग, उड़द, सूत, चना में उतार-चढ़ाव रहेगा।


कृषि के क्षेत्र में यह माह मध्यम लाभ देने वाला रहेगा। राजनीतिक वर्ग के लिए यह माह अच्छा रहेगा। नौकरीपेशा वर्ग के लिए यह माह पहले से अच्छा रहेगा। वृद्ध आदमी के लिए यह माह ठीक-ठीक रहेगा। विद्यार्थी वर्ग के लिए यह माह उन्नति वाला रहेगा। माह के अंत में पश्चिम के देशों में शांति रहेगी व उत्तर के देशों में अशांति रहेगी, साथ ही बालकों पर कष्ट रहेगा।

पूर्व के देशों में आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं रहेगी। दक्षिण के देशों में युद्ध का भय रहेगा। किसी बड़े राजनीतिक व्यक्ति पर बड़ा कष्ट आएगा। धार्मिक यात्रा में प्रजा की रुचि बढ़ेगी। साथ ही शुक्र ग्रह की स्थिति से पर्यटन स्थल में सुधार होगा।



भारत में केंद्र सरकार पर नाना प्रकार के विरोध आएंगे, परंतु धीरे-धीरे सभी से सरकार सामना करने में सक्षम रहेगी। किसी राज्य में प्राकृतिक प्रकोप के कारण जन-धन की हानि हो सकती है। किसी भी धार्मिक स्थल पर दुर्घटना होने के योग बन रहे हैं लेकिन गुरु की स्थिति से यह घटना टल सकती है या कम नुकसान हो सकता है।

November Astrology इस माह की कुंडली को बादल चाल की नजर से देखते हैं तो मौसम में पूर्ण रूप से परिवर्तन हो जाएगा। शीतलहर ने बढ़ोतरी होगी। हिमाचल, उत्तरप्रदेश, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, पंजाब व उत्तराखंड में शीतलहर अधिक रहेगी। सिक्किम में तापमान शून्य से नीचे रहेगा, जो कष्टप्रद होगा। इस माह में शीत के कारण वृद्ध व बालकों पर कष्ट रहेगा।


छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, बिहार, राजस्थान, गुजरात व चेन्नई में पहले तापमान तेज व बाद में कम होगा। चेन्नई, कर्नाटक में सुबह-शाम मौसम ठंडा व दोपहर में गर्म रहेगा।

1 view0 comments

Recent Posts

See All

महाबली हनुमान जी को संकट मोचन भी कहा जाता है। हनुमान जी अपने भक्तों पर आने वाले सभी तरह की परेशानियां और भय दूर करते हैं। कहा जाता है कि हनुमान जी से बढ़कर कोई देवी-देवताएं नहीं है ये आज के समय में भी