नमक के ये कुछ आसान से उपाय पुरानी से पुरानी बीमारी से छुटकारा दिलाता है


नमक के उपाय - नमक के बारे में तो आप सब पहले से ही जानते होंगे कि कैसे इस का प्रयोग किया जाता है। इसका इस्तेमाल केवल भोजन का स्वाद बढ़ाने के लिए ही नहीं किया जाता है बल्कि इसे कई तरह की चीजों में भी मिलाया जाता हैं। जैसे कि खाद्य वस्तुओं का सेवन में आदि सामग्री में नमक का प्रयोग किया जाता है।


क्या आप जानते है एक चुटकी नमक आपको और आपके पूरे परिवार को पुरानी से पुरानी बीमारी से मुक्ति दिलाने में सहायता करता है। आप सब ने देखा ही होगा कि कई बार अस्पताल और बढ़े से बड़े डॉक्टरों की दवा भी मरीज के शरीर पर कोई असर नहीं करती है। तो ऐसे में एक चुटकी नमक यह आसान सा उपाय करने से व्यक्ति को लाभ मिलता है। नमक को रोगों, नजर, नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए और साथ ही गृह क्लेश को दूर करने के लिए भी नमक का उपाय व टोटके करते है जिससे उनके दांपत्य जीवन में खुश बनी रहे।


ज्योतिष पुस्तक लाल किताब के अनुसार यह नमक के कुछ आसान से नुस्खे और टोटके को करने से रोगों को दूर भगाएंगा।

नमक के उपाय (Namak Ke Upay)-

तो आइए जानते है नमक के उपाय और टोटकों के बारे में...


अगर आपके घर-परिवार में कोई व्यक्ति काफी लंबे समय से बीमार चल रहा है। तो ऐसे में व्यक्ति के सिरहाने कांच के एक बर्तन में नमक रख दें। फिर एक सप्ताह के बाद उस नमक को बदल दें और फिर दोबारा दूसरा नमक वहीं पर रख दें। आप देखेंगे कि उस व्यक्ति की सेहत में धीरे-धीरे सुधार आने लगेगा।


आप आपने बेडरूम में भी एक कटोरी सेंधा नमक के कुछ टुकड़े रखें। ऐसा करने से आपकी सेहत बिल्कुल ठीक रहेगी।

अगर आप का मन भी बहुत अशांत रहता है। दिमाग में अक्सर कई तरह के विचार आते रहते हैं या फिर किसी तरह की कोई चिंता आपको सता रही हैं और इसी के साथ आपका स्वास्थ्य भी बिगड़ता जा रहा है। तो आपको पानी में नमक मिलाकर नहाने से शरीर शुद्ध होगा और साथ ही मन शांत हो जाएगा।


अगर आपके घर में किसी की सेहत बेहद खराब है तो उस रोगी के ऊपर से एक रोटी को 7 बार वार के उसे किसी काले कुत्ते को खिला देना चाहिए। ऐसा आपको कम से कम 43 दिनों तक करना होगा और फिर आप देखिए कि कैसे उसी सेहत में सुधार आता है।


यह तो अकसर लोग अपनाते रहते है। रोगी के के सो जाने के बाद उसके सिरहाने तांबे के एक लोटे में जल भरकर रखें और फिर उसे सुबह बाहर डाल देना चाहिए। ध्यान रखें कि रोगी को सोते समय सिरहाना पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए।

3 views0 comments