Search
  • Acharya Bhawana Sharma

जानिए किन 3 राशियों के जातक होते हैं बहुत अभिमानी, अपने अभिमान से ही करते हैं अपना बेहद नुकसान


आप इस वक्त बात को तो मानते ही होंगे कि पृथ्वी पर आया हुआ हर जीव खास है वह अपने अंदर खुद एक खासियत लिए हुए हैं परंतु ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 12 राशियां होती हैं और 12 राशियों में सभी में कुछ ना कुछ खास होता है सभी के अंदर कुछ खूबियां तो कुछ खामियां होती हैं। व्यक्तियों के अंदर इन्हीं गुण और अवगुणों के आधार पर ही वह जीवन का निष्पादन करते हैं। परंतु जहां ज्योतिष शास्त्र में लोगों के व्यवहार के बारे में बताया गया है ऐसे में उनके व्यवहार के गुणों को मुखरता से उजागर किया गया है परंतु क्या आप जानते हैं ज्योतिष शास्त्र में व्यक्ति के स्वभाव में उसके घमंड को भी उजागर किया गया है ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 4 राशियां ऐसे हैं जो अपने घमंड के कारण काफी कुछ ऐसा खो देते हैं जो वह नहीं खोना चाहते। ज्योतिषियों के मुताबिक तमाम लोग ऐसे होते हैं जो बेहद तेज-तर्रार और बुद्धिमान होते हैं, लेकिन अपने घमंड के चलते जीवन में मात खा जाते हैं। आइए जानते हैं इन राशि के लोगों के बारे में जो अपने घमंड के कारण कई चीजें खो देते हैं।

मिथुन राशि ज्यौतिष के राशिचक्र में की तृतीय राशी है। इसका उद्भव मिथुन तारामंडल से माना जाता है। राशि चक्र की तीसरी राशि है राशि का प्रतीक युवा दंपति है यह दूरी सभा वाली राशि है नक्षत्र के तीसरे चरण के मालिक मंगल शुक्र है मंगल और शुक्र माया है जातक के अंदर माया के प्रति भावना पाए जाते हैं जीवनसाथी के प्रति हमेशा शंकर प्रतीत होता हैं। इस राशि के जातक काफी तेज तर्रार होते हैं और बुद्धिमान भी होते हैं यह अपनी बुद्धिमानी से किसी भी लक्ष्य को प्राप्त कर लेते हैं और अपने आत्मविश्वास के कारण समाज में एक अच्छा स्थान प्राप्त करते हैं और नौकरी में भी उनके आत्मविश्वास काफी काम आता है परंतु यह अपने घमंड में कभी-कभी इतना चूर हो जाते हैं कि यह क्या खो रहे हैं यह इन्हें पता भी नहीं होता है।लेकिन इस राशि की प्रकृति ऐसी है कि शख्स के अंदर घमंड घर कर लेता है। मान्यता है कि इगो के चलते इस राशि के लोग अपने करियर में बहुत आगे नहीं बढ़ पाते हैं।


मकर राशि मकर राशि के जातक मेहनती, समर्पित और वफादार होते हैं। इनका स्वामी ग्रह शनि होता है, जिसकी वजह से ये महान अनुशासनशील बनते हैं। इस राशि के व्यक्ति जिस भी गतिविधि को चुनते हैं, उस क्षेत्र में शीर्ष तक पंहुचते हैं। पर अत्यंत सावधानी और दृढ़ दृष्टिकोण के साथ आगे बढ़ते हैं।मकर राशि के जातक अपने दृष्टिकोण के बारे में सतर्क होते हैं। ये अपनी प्रगति और समृद्धि को पाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं और किसी भी तरह के आसान रास्ते से नफरत करते हैं। ये कठोर और दंभी माने जाते हैं, पर ये वास्तव में विनम्र और पोषक विचारधारा के धनी होते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस राशि के जातकों के अंदर काफी घमंड पाया जाता है यह घमंड में इतना चूर होते हैं कि इन्हें काफी घमंडी भी कहा जाता है इसी घमंड के कारण यह लोग जीवन में ज्यादा आगे नहीं बढ़ पाते हैं यह अपना बुरा अपने घमंड के साथ खुद ही कर लेते हैं इनका घमंड इन पर ही भारी पड़ता है।


राशि चक्र की यह दूसरी राशि है, इस राशि का चिन्ह ’बैल’ है, बैल स्वभाव से ही अधिक पारिश्रमी और बहुत अधिक वीर्यवान होता है, साधारणत: वह शांत रहता है, किन्तु क्रोध आने पर वह उग्र रूप धारण कर लेता है। यह स्वभाव वृष राशि के जातक में भी पाया जाता है वृष राशि वाले जातक शांति पूर्वक रहना पसंद करते हैं, उनको जीवन में परिवर्तन से चिढ सी होती है, इस राशि के जातक अपने को बार बार अलग माहौल में रहना अच्छा नहीं लगता है। इस प्रकार के लोग सामाजिक होते हैं और अपने से उच्च लोगों को आदर की नजर से देखते है। जो भी इनको प्रिय होते हैं उनको यह आदर खूब ही देते हैं, और सत्कार करने में हमेशा आगे ही रहते है। सुखी और विलासी जीवन जीना पसंद करते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस राशि के जातकों को काफी घमंडी माना जाता है यह अपने आगे किसी भी व्यक्ति की नहीं सुनते हैं इन्हें लगता है कि जो यह बोल रहे हैं बस वही सही है और कुछ नहीं इसी कारण यह अपना नुकसान कर आ बैठते हैं और उनका घमंड पर ही भारी पड़ता है परंतु फिर भी यह अपने स्वभाव में ही जीते हैं और अपने आगे किसी को भी भाव नहीं देते हैं

3 views0 comments

Recent Posts

See All

महाबली हनुमान जी को संकट मोचन भी कहा जाता है। हनुमान जी अपने भक्तों पर आने वाले सभी तरह की परेशानियां और भय दूर करते हैं। कहा जाता है कि हनुमान जी से बढ़कर कोई देवी-देवताएं नहीं है ये आज के समय में भी