केवल सप्ताह भर में हो जाएगी हर समस्या दूर, कर लें यह उपाय:-

जीवन की सभी समस्याओं का समाधान केवल सप्ताह भर में दूर हो सकती है। जी हां केवल सप्ताह के सात दिनों में ही एक साथ अनेक समस्याओं से मुक्ति पाना संभव है। जानें सप्ताह भर में किस उपाय से कैसे हो सकता है चमत्कार।

1- रविवार का दिन- अगर किसी की कुंडली में सूर्य के कमज़ोर होने पर व्‍यक्‍ति को अपने जीवन में किसी भी क्षेत्र में सफलता नहीं मिल पाती। सूर्य को प्रसन्‍न करने के लिए नियमित उगते सूर्य को जल का अर्घ्य अर्पित करें। इस दिन गरीबों को गुड़ का दान करें।

सूर्यदेव को जल अर्पित करते समय जरूरी बातें - सूर्यदेव को तांबे के पात्र से ही जल दें। जल देते समय दोनों हाथों से तांबे के पात्र को पकड़े। - सूर्य को जल अर्पित करते हुए उसमें पुष्प या अक्षत (चावल) जरूर रखें। - दोनों हाथों से सूर्य को जल देते हुए ये ध्यान रखें की उसमें सूर्य की किरणों की धार जरूर दिखाई दे।


2- सोमवार का दिन- अगर किसी की कुंडली में चंद्र दोष है या चंद्रमा कमज़ोर स्थिति में है तो व्यक्ति को हमेशा कोई न कोई बीमारी लगी रहती है। सर्दी-जुकाम, नेत्र संबंधी रोग और अर्थराइटिस से आप परेशान रहते है। चंद्र ग्रह को शांत करने के लिए सोमवार के दिन शिवलिंग पर जल अर्पित करना चाहिए। इस दिन दूध से बनी खीर का दान करें।



3- मंगलवार का दिन- कहा जात है कि मंगल कई प्रकार की शारीरिक बीमारियां देता है। कुंडली में मंगल को मजबूत करने के लिए आपको मंगलवार के दिन हनुमान जी और मां काली की आराधना करना चाहिए। इस दिन छोटी कन्याओं को उड़द, मूंग या तुअर की दाल से बना भोजन करावें।

4- बुधवार का दिन- अगर कुंडली में बुध कमज़ोर हो तो उसे मजबूत करने के लिए बुधवार के दिन भगवान गणेश जी को 11 लड्डूओं का भोग लगाएं और दूर्वा चढ़ाएं। इस दिन शाम के समय गणेश मंदिर के सामने कोई भिखारी दिखाई दे तो उसे पीली रूमाल या कपड़ा जरूर दान करें।

5- गुरुवार का दिन- गुरुवार का दिन देवों के गुरु बृहस्‍पति देव की आराधना का दिन माना जाता है। अगर किसी की कुंडली में गुरु नीच या कमज़ोर स्‍थान में हो तो उसे अवनति मिलती है। इस दिन भगवान विष्‍णु को खीर का भोग लगाने से गुरु को मजबूती मिलती है। इस दिन मंदिर में पीली वस्‍तुओं, पीले रंग के वस्‍त्रों और जनेऊ का दान करें।

6- शुक्रवार का दिन- यह दिन शुक्र ग्रह से संबंधित है, शुक्र ग्रह भौतिक सुख-सुविधाओं का कारक होता है। इस दिन शुक्र मंत्र का जप जरूर करें। इस दिन शुक्रवार के दिन किसी गरीब सुहागिन स्‍त्री को सुहाग से जुड़ी वस्‍तुओं का दान करें।

7- शनिवार का दिन- शनिवार का दिन न्‍याय के देवता शनि देव का दिन होता है। शनि देव को प्रसन्‍न करने के लिए शनिवार के दिन शनि से संबंधित वस्‍तुओं का दान करें। शनिवार के दिन शिवलिंग पर काले तिल मिले जल से अभिषेक करें। पीपल के पेड़ पर भी जल चढ़ाएं। इस दिन किसी गरीब को उड़द की दाल से बनी खिचड़ी जरूर खिलाएं।

13 views0 comments