Search
  • Acharya Bhawana Sharma

कमजोर शुक्र के लक्षण और मज़बूत करने के सरल उपाय, जानिए कैसे होंगी माँ लक्ष्मी प्रसन्न


ज्योतिष के अनुसार शुक्र ग्रह सुख-समृद्धि-वैवाहिक जीवन का कारक है। कमजोर शुक्र को मजबूत कर जातक धन वैभव सब कुछ हासिल कर सकता है। कमजोर शुक्र वालों को जीवन भर कष्ट देखना पड़ता है। माँ लक्ष्मी के प्रसन्न हो जाने से शुक्र ग्रह स्वयं ही मज़बूत स्थिति में आ जाता है।शुक्रवार को माता लक्ष्मी के पूजन से सब कुछ प्राप्त कर सकते हैं। माँ लक्ष्मी को सदैव प्रसन्न रखने का एकमात्र और सबसे बड़ा उपाय स्त्री का सम्मान होता है। घर में, समाज में या कार्यक्षेत्र में कहीं भी जो व्यक्ति स्त्री का सम्मान करता है उस पर माँ लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है। आज हम बताने जा रहें हैं कई ज्योतिषीय और लाल किताब के उपाय जिनसे आप शुक्र को मज़बूत करने के साथ-साथ माँ लक्ष्मी का आशीर्वाद भी प्राप्त कर सकते हैं….


यदि किसी जातक का शुक्र कमजोर हो तो दिन-ब-दिन चेहरे की चमक कम होने लगती है,आँखों की रोशनी कम होने लगती है। कमजोर शुक्र उस जातक का आकर्षण छीन लेता है और आर्थिक स्थिति भी खराब हो सकती है। पुरुष जातकों की शादी में अकारण ही रुकावटें आने लगतीं हैं। शरीर के निचले हिस्से जैसे कमर या पिंडलियों में दर्द होता है। भाग्य में दरिद्रता का आ जाती है। कभी-कभी तो कमजोर शुक्र वाले जातकों का मन रात को मीठा खाने का होता है। वैवाहिक सुख में कमी आ जाना और चरित्र पर प्रभाव पड़ना भी शुक्र की स्थिति ख़राब हो जाने से होता है।

ऐसे लक्षण वाले जातकों को सफेद चीजें दान करना चाहिए। शुक्र को मज़बूत करने हेतु सफ़ेद चंदन, चावल, वस्त्र, फूल, चांदी, घी, दही, शक्कर आदि किसी कम उम्र की कन्या को दान करना चाहिए। शुक्रवार आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण दिन होता है। शुक्रवार को व्रत रखना, चींटी को आटा खिलाने और पानी में इलायची डालकर स्नान करने से शुक्र प्रसन्न होकर शुभ परिणाम देते हैं।


शुक्र को प्रबल बनाने हेतु शुक्रवार को स्नानादि करके पुखराज या जरकन रत्न चाँदी में पहनकर सफ़ेद वस्त्र पहनें। शुक्र व माँ लक्ष्मी दोनों का ध्यान करते हुए “ॐ शुं शुक्राय नम:” अथवा “ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः” में एक मंत्र (जो आपको आसानी से याद हो सके) का 108 बार जाप करें। आप हीरे को सोने या प्लैटिनम में भी धारण कर सकते हैं। कमजोर शुक्र ग्रह वालों को इक्कीस या इक्तीस शुक्रवार का व्रत रखना चाहिए। शुक्र वार के व्रत से दो काम एक साथ हो जाते हैं। पहला शुक्र मजबूत हो जाएगा और दूसरा माँ लक्ष्मी की अत्यधिक कृपा भी आप पर बरसेगी। साथ ही, माँ लक्ष्मी के समक्ष श्रीसूक्तम् पाठ करने से जिससे आपकी सुख-समृद्धि तेज़ी से बढ़ेगी।


शुक्रवार के दिन कम उम्र की कुंआरी कन्याओं का भोज करें। उन्हें प्रेम पूर्वक खीर खिलाएं, दक्षिणा दें और नया पीला वस्त्र दें। इससे लक्ष्मी जी आपसे तुरंत और अधिक प्रसन्न होंगी। अपने रुके हुए काम पूरे करने के लिए ग्यारह शुक्रवार काली चींटियों के लिए चीनी डालें। शयनकक्ष में प्रेमी-युगल जोड़े पक्षी की तस्वीर लगा लेने से पति-पत्नी के झगड़े सुलझने लगते हैं। कमजोर शुक्र वाले जातक चीनी मिला दही खाकर घर से निकलेंगे तो उनके कार्यों में रुकावट नहीं आएगी। शुक्रवार के दिन देवी लक्ष्मी पर लाल रंग का कमल, गुड़हल या गुलाब का पुष्प तो सब ही को भाव पूर्वक समर्पित करना चाहिए।

5 views0 comments

Recent Posts

See All

महाबली हनुमान जी को संकट मोचन भी कहा जाता है। हनुमान जी अपने भक्तों पर आने वाले सभी तरह की परेशानियां और भय दूर करते हैं। कहा जाता है कि हनुमान जी से बढ़कर कोई देवी-देवताएं नहीं है ये आज के समय में भी