Search
  • Acharya Bhawana Sharma

ऐसे सरल उपाय जिन्हें करने से गणेश जी होंगे खुश और देंगे मनचाहा वरदान


श्री गणेशाय नमः प्रथम पुज्य श्री गणेश भगवान को हिंदू धर्म में प्रमुख देव रुप में स्थापित किया गया है. प्रत्येक पूजन में वह प्रथम स्वरुप में पूजे जाते हैं उसके पश्चात अन्य कार्यों का कारंभ होता है. ऎसे में एक अत्यंत ही सहज सरल मंत्र "श्री गणेशाय नमः" का उच्चारण सभी प्रकार के विध्नों को शांत करने हेतु प्रथम स्वरुप में ग्रहण किया जाना अत्यंत ही उत्तम फलप्रदान करने योग्य माना जाता है. आप कोई भी कार्य करें किंतु यदि उससे पूर्व इस मंत्र का उच्चारण आप करते हैं तो ये आपके लिए अत्यंत ही चमत्कारिक रुप से कार्य करने वाला साधक मंत्र बन जाता है.


हिंदू धर्म में भगवान गणेश जी को सर्वप्रथम पूजा जाता है। गणपति बाप्पा को शुभ और कल्याण के देवता कहा जाता है। माना जाता है कि मनुष्य के सारे शुभ काम पहले गणेश जी के नाम से शुरू किया जाता है। जो व्यक्ति, दरिद्रता, बीमारियां और मानसिक स्थिरता अपने जीवन में चाहते है, तो उन्हें भगवान गणेश जी पूजा करनी चाहिए क्योंकि ये व्यक्ति के जीवन में सुख-समृद्धि का काम करते है।


आज हम आपको ऐसे ही कुछ गणपति बाप्पा के मंत्रों के बारे में बताएँगे जिसका प्रयोग करने से आपके भी जीवन में सुख-शांति बनी रहें और परेशानियों से मुक्ति मिलें। तो आइए जानते है उन 5 मंत्रों के बारे में।


1. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, ॐ गं गणपतये नमः' इस मंत्र का जाप करने से जीवन में कभी भी आपके पास संकट और कष्ट नहीं आएगें। अगर आ भी जाए तो गणेश भगवान जी की कृपा से उसका प्रभाव ना मात्र नहीं रहेगा।


2.'वक्रतुण्डाय हुं' मंत्र की 2 माला का जाप 11 दिनों तक करने पर जीवन में निराश और आलस्य नहीं होती है। कहते है कि जहां आशा है वहां उत्साह है और उत्साह के साथ ही व्यक्ति जीवन में आगे बड़ा है।

3.'ॐ श्रीं गं सौम्याय गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा'. इस मंत्र की माला का जाप करने से मानो आप की जिंदगी ऐसे बदल जाएगी कि कभी जीवन में कोई परेशानी थी ही नहीं। यह मंत्र पैसे और आत्मबल को बढ़ाता है। तरक्की के नए-नए रास्ते अपने आप बनते चले जाते हैं और तेजी के साथ सफलता को प्राप्त करते है।


4. ॐ वक्रतुण्ड दंष्ट्राय क्लीं ह्रीं श्रीं गं गणपते वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा' यह एक ऐसा मंत्र है जो व्यक्ति को अपने कार्य में सफलता दिलाता है और नाम, शौहरत और पैसे की बारिश होती है। अगर आप के भी जीवन में किए गए कार्य का आप को कोई फल नहीं मिलता है तो इस मंत्र का जाप करें। यह मंत्र हर तरह की सफलता प्राप्त कराता हैं।


5. ॐ हस्ति पिशाचि लिखे स्वाहा'' इस मंत्र का जाप व्यक्ति को प्रतिदिन करने से जीवन में हर तरह की परेशानियां, विघ्र और दुख दूर होती हैं और इसी के साथ यह मंत्र आपको सिद्धि, शौहरत और समृद्धि देता है।


6. साबुत बेल पत्र लें और उन पर माँ पार्वती व महादेव शिव का नाम एक साथ लिखें। हर बुधवार को किसी मंदिर में पहले गणपति का विधिवत पूजन करें, फिर नाम लिखे इक्कीस बेल पत्र गणेश जी को चढ़ाएँ। बेल पत्र चढ़ाते समय मन में अपनी मनोकामना अवश्य विचारें। ऐसा करने से सुख-समृद्धि तो बढ़ेगी ही, यदि कुंवारे हैं तो विवाह भी शीघ्र होगा।

3 views0 comments

Recent Posts

See All

महाबली हनुमान जी को संकट मोचन भी कहा जाता है। हनुमान जी अपने भक्तों पर आने वाले सभी तरह की परेशानियां और भय दूर करते हैं। कहा जाता है कि हनुमान जी से बढ़कर कोई देवी-देवताएं नहीं है ये आज के समय में भी